Uddiyana Bandha In Hindi Complete Guide

Uddiyana Bandha In Hindi Complete Guide  हठयोग में वर्णित उड्डियान बंध  का अभ्यास प्राणों को उर्ध्व बनाकर उसे सुषुम्ना में प्रवाहित करने में सक्षम है। उड्डियान बंध लगाकर आप कई स्वास्थ लाभ प्राप्त कर सकते है। कई प्रकार के पेट रोग उड्डियान बंध का अभ्यास करने से अनायास ही खत्म हो जाते है। इस इस लेख में Uddiyana Bandha In Hindi के बारे में विस्तार से समझाने जा रहे है ,जो आपकी सेहत के लिए काफी फायदेमंद साबित होगा।

Uddiyana Bandha In Hindi - उड्डियान बंध योग 

Uddiyana Bandha In Hindi - उड्डियान बंध योग
Uddiyana Bandha Steps 


  • Uddiyana Bandha Step By Step Guide



  1. Uddiyana Bandha Steps करने के लिए सबसे पहले किसी ध्यानात्मक आसन में बैठ जाए ,जैसे Padmasana ,Sukhasana आदि।
  2.  अब अपने दोनों हाथों को अपने दोनों घुटनों पर रखे और श्वास बाहर छोड़कर पेट को ढीला छोड़े। 
  3. अब Jalandhara Bandha लगाकर छाती को थोड़ा ऊपर की और (आगे) करे। 
  4. अब जितना आप पेट को अंदर खींच सकते है ,उतना खींचने का प्रयास करे।
  5.  इस अवस्था में साधक का पेट और कमर एक जैसी दिखाई देने लगती है। मतलब पेट का ऊपरी हिस्सा पूरी तरह से अंदर खींच लिया जाता है।
  6.  इस अवस्था में आप जीतनी देर स्वयं को रोक सकते है ,उतनी देर रुके। और श्वास को छोड़कर फिर सामान्य स्थिति में आ जाए।
  7.  इसी क्रिया को १ से १० बार दोहराएं ,शुरुवाती समय में इसे केवल ३ बार ही करे। फिर जैसे आप Uddiyana Bandha  में निपुणता प्राप्त कर लेते है ,अपनी अवधि को बढ़ा सकते है।







Amazing Health Benefits Of Uddiyana Bandha - उड्डियान बंध के लाभ 

Amazing Health Benefits Of Uddiyana Bandha - उड्डियान बंध के लाभ
Uddiyana Bandha Health Benefits 



  1. Uddiyana Bandha Practice से पेट के समस्त रोग समाप्त हो जाते है।
  2. Uddiyana Bandha जठरग्नि को प्रदीप्त कर पेट की अनावश्यक चर्बी को दूर करता है ,और Digestive System को बढ़ाता है।
  3.  भूक न लगना ,पाचनक्रिया में गड़बड़ी ,पथरी ,मंदाग्नि ,गैस ,कब्ज ,पेट में दर्द  इत्यादि रोगों को दूर करने में सहायक है। 
  4. Uddiyana Bandha Steps बुढ़ापे को रोकता है। पुरुषों में नया जोश और स्फूर्ति लाने के लिये Uddiyana Bandha बहुत लाभकारी है।
  5.  ये Sex Power को बढ़ाता है ,और प्रजनन प्रणाली को विकसित करता है। 
  6. मासिक धर्म की अनिमितता ,श्वेत प्रदर ,प्रदर रोगों में लाभदायी है। 
  7. Uddiyana Bandha लगाने से प्राण जागृत होकर मणिपुर चक्र को शुद्ध करता है ,जो अनंत शक्तियों का भंडार है।
  8. ये सभी Benefits Of Uddiyana Bandha है। जो नियमित Uddiyana Bandha Practice से प्राप्त होते है। 





Things To Know Before You Do Uddiyana Bandha Yoga - ध्यान रखने योग्य बातें  


  1. Uddiyana Bandha Steps  करने के लिए आपका पेट मुलायम होना आवश्यक है। 
  2. इस क्रिया को धैर्य रखकर ही साधा जा सकता है। 
  3. Uddiyana Bandha Practice करने से पूर्व आपका पेट और आतें खाली होनी चाहिए ,तभी आप इस क्रिया से सकारात्मक लाभ ले पाएंगे। 
  4. इसके लिए आपका पेट पर पूर्ण रूप से नियंत्रण होना आवश्यक है ,जो आपको नियमित रूप से Pranayama का अभ्यास करने से मिल जाता है। इसलिए जो शुरुवाती अभ्यासक है ,उन्हें अपना पेट Kapalbhati Pranayam या अन्य Shatakarma क्रियाओं द्वारा साफ़ और मुलायम बना लेना चाहिए। 
  5. Uddiyana Bandha लगाने का सबसे उपयुक्त समय सुबह का होता है ,इस समय आपका पेट खाली होता है। और आप आसानी से इस बंध को लगा सकते है।






Uddiyan Bandhas Lagate Samay Savdhani Rakhe 



  1. जिन्हे Heart संबंधित बीमारिया है ,उन्हें Uddiyana Bandha को नहीं लगाना चाहिए।
  2.  पेट में चोट होनेपर भी Uddiyana Bandha Practice करने से बचे। 
  3. Pregnant Woman गर्भवती महिलाओं को Uddiyana Bandha Steps नहीं करने चाहिए। 
  4. पहली बार अभ्यास करते समय किसी योग्य गुरु Yoga Teacher के सानिध्य में ही Uddiyana Bandha Yoga का अभ्यास करना चाहिए।




ये थी  "Uddiyana Bandha In Hindi" से जुडी जानकारी जो आपको काफी सारे स्वास्थ लाभ देने में पर्याप्त है। इस बंध से संबंधित या कोई अन्य सवाल होने पर आप कमेंट कर के पूछ सकते है।
Previous
Next Post »